Bihar Election: Nitish Kumar ने फेंका आरक्षण का पासा; जनसंख्या से हिसाब से देंगे reservation

Valmiki Nagar in West Champaran is in limelight for loksabha by-poll that is scheduled with the third phase of Bihar Election.

File Photo of Nitish Kumar. (Courtesy: Hindustan Times)

Patna, Bihar: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के गर्म होते माहौल के बीच मुख्यमंत्री नितीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने अनुपातिक आरक्षण (proportionate election) देने की बात कर राज्य में एक नयी बहस छेड़ दी है। दूसरे चरण की वोटिंग (second phase voting) से पहले नीतीश कुमार ने पश्चिमी चंपारण (West Champaran) के वाल्मीकिनगर में कहा कि हम तो चाहते हैं कि जिसकी जितनी आबादी है, उसी के हिसाब से आरक्षण का व्यवस्था होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने अपनी पार्टी का रुख साफ़ करते हुए कहा की JDU का अनुपातिक आरक्षण के मसले पर कोई दो राय नहीं है। 

गौरतलब है की उत्तरी बिहार के वाल्मीकि नगर (North Bihar’s Valmiki Nagar) में थारू जाति की अच्छी-खासी जनसँख्या है। यहाँ के लोग वर्षों से थारू (Tharu Caste) को एक जनजाति के रूप में मान्यता देने की मांग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री इस बात को भली-भांति समझते हैं और उन्होंने आरक्षण का राग अलाप दिया। 

मुझे वोट की फ़िक्र नहीं रहती। आपलोगों ने मुझे पहले काम करने का मौका दिया और मैं आपकी उम्मीदों पर खरा उतरा। अगर आगे भी आपलोग हमें मौका देते हैं तो फिर से उसी शिद्दत से काम करेंगे। आपके बीच आकर आपकी समस्याओं को सुनेंगे और उनका समाधान करेंगे। 

हालाँकि नितीश कुमार (Nitish Kumar) ने संख्या की बात को जनगणना (census) पर टाल दिया और कहा की यह निर्णय हमारे हाथ में नहीं है। 

वाल्मीकि नगर में विधानसभा के साथ साथ लोकसभा की सीट पर उपचुनाव (by-election) भी होने हैं। जदयू सांसद बैद्यनाथ महतो के निधन के बाद पार्टी ने उनके बेटे सुनील कुमार को मैदान में उतारा है। 

एक बार फिर से उन्होंने तेजश्वी यादव (Tejashwi Yadav, RJD) के दस लाख नौकरी देने की बात पर तंज कसते हुए कहा की पिछले दस वर्षों में एक करोड़ विद्यार्थिओं ने बारहवीं पास की है और सबको नौकरी देने के लिए फंड कहाँ से लाएंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *