तेजस्वी CM, नीतीश PM: आखिर क्या खेल चल रहा बिहार में? Bihar Political Crisis

Amidst rift between BJP and Nitish Kumar after 6 JDU MLAs joined BJP in Arunachal Pradesh, Bihar Politics Crisis has also emerged. RJD has offered Nitish Kumar PM candidature for the 2024 general election in return for giving the Bihar CM post to Tejasvi Yadav.

Bihar Political Crisis- Nitish Kumar offered PM Candidature in return for Bihar CM post to Tejashwi Yadav.
Courtesy: Economics Times

The Ganga Times, Gaya: अरुणाचल प्रदेश में जदयू के 6 विधायकों के भाजपा में शामिल होने के बाद बिहार की राजनीति में आये अस्थिरता शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा। कई तरह के कयासों के बीच आरजेडी (RJD) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को एक लुभावना प्रस्ताव दिया है। नीतीश कुमार को ये ऑफर राजद के वरिष्ठ नेता और बिहार विधानसभा के पूर्व स्पीकर उदय नारायण चौधरी (Uday Narayan Choudhary) द्वारा दिया गया है। मीडिया और राजनीतिक गलियारे में इस खबर का मतलब अलग अलग तरीके से लगाया जा रहा है।

क्या है पूरा मामला?
मिडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उदय नारायण चौधरी ने बयां दिया है कि अगर नीतीश कुमार मोह माया छोड़कर तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को मुख्यमंत्री बना दें तो साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के दौरान उनको प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्ष का समर्थन मिल सकता है। राजद के इस ऑफर से बिहार की सियासत में गर्मा-गर्मी बढ़ गई है। बात ऐसी है कि 3 दिन पहले बिहार में राजनीतिक उथल-पुथल उस वक़्त मच गयी जब नीतीश कुमार ने जेडीयू सुप्रीमो पद से इस्तीफा दे दिया और आरसीपी सिंह कमान सौंप दी थी। ऐसे में कयास लगना लाजिम था कि बिहार की एनडीए सरकार में सब कुछ तो ठीक-ठाक नहीं ही चल रहा है। भाजपा और जदयू के नेताओं का यह दावा करना कि बिहार में सरकार पूरी तरह से आपसी समन्वय से चल रही है गले नहीं पड़ता।

Former Bihar Vidhansabha Speaker, Uday Narayan Chaudhary
Former Bihar Vidhansabha Speaker, Uday Narayan Chaudhary (Courtesy: Amar Ujala)

इस संभावना को बल इस बात बात से भी मिलती है कि महज दो महीनों के कार्यकाल के दौरान ही नीतीश दो बार कह चुके हैं कि उनको इस बार बिहार का मुख्यमंत्री बनने का में बिलकुल भी दिलचस्पी नहीं थी और वो भाजपा के दबाव में सीएम बने हैं।

अभी भी हाथ-पैर मार रही राजद
बिहार विधानसभा के पूर्व स्पीकर उदय नारायण चौधरी के इस प्रस्ताव से यह तय माना जा सकता है कि राजद ने फिलहाल बिहार कि सत्ता संभालने की उम्मीद नहीं छोड़ी है। हो सकता है लालू के लाल नीतीश चाचा से कुछ शर्तों के आधार पर गठबंधन भी कर ले। दोनों का साथ आना कोई नयी बात नहीं होगी। इसके पहले भी बिहार में नीतीश कुमार ने राजद के साथ मिलकर सरकार चला चुके हैं। ऐसे में दोनों के दुबारा साथ आने से लोगों को आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

Keep visiting The Ganga Times for such interesting news, Bihar News, India News, and World News. Follow us on FacebookTwitter, and Instagram for regular updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *