यादव, कुर्मी-कुशवाहा और मुस्लिम समाज के विधायकों की संख्या घटी; क्या है 2020 बिहार विधानसभा का जातीय समीकरण?

Bihar Vidhansabha Election 2020 has not been good for Yadavs, Kurmis and Muslims, in terms of number of MLAs. Know how many Yadav, Kurmi, and Muslim MLAs in Bihar assembly fares caste-wise.

RJD has the most number of Yadav as well as Muslim Voters while Owaisi's AIMIM fared well with five MLAs, all from Muslim community.
RJD has the most number of Yadav as well as Muslim Voters while Owaisi’s AIMIM fared well with five MLAs, all from Muslim community.

Gaya, Bihar: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) ख़त्म होने के बाद अब बारी है चुनावी विश्लेषण की। लोगों में दिलचस्पी है की आखिर किस प्रकार का होगा ये नया वाला विधानसभा। खैर अभी सत्र तो शुरू हुआ नहीं है तो बात करते हैं की किन जातियों के लिए किस तरह का रहा ये चुनाव, मतलब बिहार असेंबली का जातीय समीकरण (Bihar Vidhansabha ka Jatiye samikaran)। सवर्ण समाज के लिए तो 2020 का चुनाव बहुत ही अच्छा रहा है। जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें। अब बात करते हैं किस समाज की संख्या बिहार विधानसभा में कम हुई है।

इस बार विधानसभा में कम होंगे यादव समाज के विधायक (Less number of Yadav Vidhayak in Bihar Vidhansabha 2020)
यादव समाज, जो की बिहार की राजनीतिक व्यवस्था में अपनी ख़ास पकड़ रखते हैं, उनके विधायकों की संख्या इस बार घटी है और 2010 वाले आंकड़े पर पहुंच गई है। 2020 के चुनाव में कुल 52 यादव विधायक (52 Yadavs in Bihar Vidhansabha 2020) पटना स्थित विधानसभा में पहुंचे हैं, जबकि 2015 में इनकी संख्या 61 थी। सबसे ज्यादा राजद के टिकट पर 36, भाजपा से 6, जदयू से 5, सीपीआई (माले) से 2, कांग्रेस, सीपीएम व वीआईपी से एक-एक यादव विधायक चुने गए हैं। माने, महागठबंधन से 40 और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से 12 यादव जीतकर विधानसभा में आये हैं।

कुर्मी-कुशवाहा विधायकों में आई कमी (9 Kurmi-Kushwaha MLAs in Bihar Vidhansabha 2020)
2020 के बिहार चुनाव में सिर्फ 9 कुर्मी विधायक ही जीत का स्वाद चख पाए हैं, जबकि 2015 में 16 विधायक कुर्मी समाज से थे। ये सभी इस बार एनडीए की टिकट पर जीते हैं- जेडीयू से 7 और बीजेपी दो।

मुस्लिम विधायकों की संख्या दस साल पीछे (19 Muslim MLAs in Bihar Vidhansabha 2020)
बिहार में मुस्लिम विधायकों (Muslim MLAs in Bihar) की संख्या में भी कमी देखने को मिली है। इस बार के चुनाव में 2015 विधानसभा चुनाव के मुकाबले 5 मुस्लिम विधायक कम जीते हैं। 2020 में 19 मुस्लिम विधायकों ने बाजी मारी है, जबकि 2015 में 24 मुस्लिम विधायक विधानसभा पहुंचे थे। भाजपा की तरफ से हमेशा की तरह एक भी मुस्लिम विधायक नहीं जीते हैं, जबकि आश्चर्यजनक रूप से जदयू से भी कोई मुस्लिम विधायक नहीं है (no muslim MLAs in Bihar from JDU and BJP)। राजद के टिकट पर सबसे ज्यादा 8 मुस्लिम प्रत्याशी जीते हैं, जबकि ओवैसी की आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (Asaddudun Owaisi’s AIMIM) के सभी 5 विधायक मुस्लिम समाज से आते हैं। कांग्रेस के चार विधायक मुस्लिम हैं, जबकि सीपीआई (माले) और बसपा के टिकट पर एक-एक मुस्लिम उम्मीदवारों को जीत हासिल हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *