अब सारे मुद्दे भुला दिए जाएँगे: Farmers Protest

The writer portrays a sorry picture of India’s democracy. How the Nishan Sahib incident during the Farmers Protest in Delhi will be used to crush the voice of common citizens. How India’s major problems like poor economy, poverty, farmers’ dissatisfaction, etc. will be covered under the farmers protest and Kisan Tractor rally violence.

Farmers Protest in Delhi: The Nishan Sahib incident will cover all issues in the country

अब सारे मुद्दे भुला दिए जाएँगे।
भुला दिए जाएंगे कि किस तरह संविधान की कसम खाने वालों ने ही संविधान का चीर-हरण किया।
भुला दिए जाएंगे वो सारे असंवैधानिक कृत्य जो सत्ता की भूखी सरकार करते आ रही है।
भुला दिए जाएंगे वो सारे दर्द, वो जख्म जो हमें दिए हैं इन सत्ताधारी हवसियों ने।
धो दिए जाएंगे वो सारे दाग जिसने भारत माँ की पवित्र आवरण को मैला किया है।

भूल जाएंगे किस कदर संवैधानिक प्रक्रिया का हनन कर संसद में क़ानून पास कर दिया जाता है।
भूल जाएंगे हम की किस प्रकार ये तुग़लकी शासन हमारे अधिकारों को कुचल रही है।
भूल तो हम ये भी जाएंगे कि मुल्क अपने अर्थव्यवस्था के इतिहास के सबसे घटिया दौर में है।
साथ में यह भी भूलना न भूलेंगे कि भारत प्रेस की आज़ादी में 142वें नंबर पे बेशर्मी से खड़ा है। खैर ये बात तो हम कब का भूल चुके हैं।

The farmers protest might be the result of government not consulting farmers before bringing the laws and passing the farm laws without debate/discussions in Rajya Sabha.
कृषि कानूनों को राज्य सभा में बिना बहस के पास कर दिया गया था (Courtesy: The Telegraph and Indian Express)

भुला देंगे हम सैकड़ों किसानों की शहादत को ख़ालिस्तानी का तमग़ा देकर।
भूल जाएंगे हम कि 40 जवानों की शहादत पर जश्न मनाने वाले एंकर आपको राष्ट्रवाद के चूल्हे में झोंक रहा हैं।
भुला दिए जाएंगे सत्ता के गलियारों से हो रही लोकतंत्र की हत्या को जिसे हम वर्षों से नज़रअंदाज़ करते आ रहे हैं।
मिट्टी डाल दी जाएगी उन सारे मुद्दों पर जो सरकार को आघात पहुँचाती है।

हुकूमत की तरफ उठने वाले सारे उँगलियों को लाल किले पर फहराए गए ‘निशान साहिब’ तले कुचल दिया जाएगा। नष्ट कर दिए जाएंगे वो सारे सवाल जो सत्ता से पूछी जानी थी। क्योंकि इस शतरंज में वज़ीर भी उसका, नियम भी उसके और न्यायाधीश भी उसी का।

अगर आपके पास भी कोई कहानियां या ब्लॉग है तो हमें भेज सकते हैं। हम उसे ‘गंगा टाइम्स’ पर प्रकाशित करेंगे।

Keep visiting The Ganga Times for Bihar News, UP News, India News, and World News. Follow us on FacebookTwitter, and Instagram for regular updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *