पीएम मोदी ने अलीगढ़ यूनिवर्सिटी को बताया ‘मिनी इंडिया’; इसकी समृद्ध विरासत को सराहा

Prime Minister Narendra Modi has addressed the AMU centenary celebration via video conferencing. During the virtual address, he also released a postal stamp on the occasion. This is the first time in over 5 decades that a PM has participated in an Aligarh Muslim University programme.

The Ganga Times, Gaya: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के ऐतिहासिक शताब्दी समारोह में हिस्सा लिया। करीब पांच दशक के बाद ऐसा हुआ जब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम को देश के किसी प्रधानमंत्री ने संबोधित किया। बता दें की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह मे हिस्सा लिया.

अलीगढ़ विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह के अवसर पर पीएम नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए डाक टिकट जारी किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के इस संकट के दौरान भी एएमयू ने जिस तरह समाज की मदद की, वो अभूतपूर्व है। हज़ारों लोगों का मुफ्त टेस्ट करवाना, आइसोलेशन वार्ड बनाना, प्लाज्मा बैंक बनाना और पीएम केयर फंड में बड़ी राशि का योगदान देना, समाज के प्रति आपके दायित्वों को पूरा करने की गंभीरता को दिखाता है।

उन्होंने कहा कि बीते 100 वर्षों में एएमयू ने दुनिया के कई देशों से भारत के संबंधों को सशक्त करने का भी काम किया है। उर्दू, अरबी और फारसी भाषा पर यहाँ जो रिसर्च होती है, इस्लामिक साहित्य पर जो रिसर्च होती है, वो समूचे इस्लामिक वर्ल्ड के साथ भारत के सांस्कृतिक रिश्तों को नई ऊर्जा देती है। आज एएमयू से तालीम लेकर निकले सारे लोग भारत के सर्वश्रेष्ठ स्थानों पर ही नहीं बल्कि दुनिया के सैकड़ों देशों में छाए हुए हैं। एएमयू के पढ़े लोग दुनिया में कहीं भी हों, भारत की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि समाज में वैचारिक मतभेद होते हैं, लेकिन जब बात राष्ट्रीय लक्ष्यों की प्राप्ति की हो, तो हर मतभेद किनारे रख देने चाहिए। जब आप सभी युवा साथी इस सोच के साथ आगे बढ़ेंगे तो ऐसी कोई मंजिल नहीं, जो हम हासिल न कर सकें।
एएमयू के पढ़े लोग दुनिया में कहीं भी हों, भारत की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं।मुझे बहुत से लोग बोलते हैं कि ए एम यू कैंपस अपने आप में एक शहर की तरह है।

अनेक विभाग, दर्जनों हॉस्टल, हजारों टीचर-छात्रों के बीच एक “मिनी इंडिया” नजर आता है। यहां एक तरफ उर्दू पढ़ाई जाती है, तो हिंदी भी। अरबी पढ़ाई जाती है तो संस्कृत की शिक्षा भी दी जाती है। साथ ही प्रधानमंत्री ने कहा कि सियासत सोसाईटी का एक अहम हिस्सा है लेकिन सोसाइटी में सियासत के अलावा भी दूसरे मसले हैं, सियासत और सत्ता की सोच से बहुत बड़ा, बहुत व्यापक, किसी भी देश का समाज होता है। उन्होंने कहा कि “पॉलिटिक्स इंतज़ार कर सकता है मगर डेवलपमेंट इंतज़ार नहीं कर सकता।”

प्रधानमंत्री ने संबोधन के दौरान बताया कि सरकार उच्च शिक्षा में नंबर ऑफ़ इनरोलमेंट बढ़ाने और सीटें बढ़ाने के लिए भी लगातार काम कर रही है।
– वर्ष 2014 में हमारे देश में 16 IITs थीं, आज 23 IITs हैं।
– वर्ष 2014 में हमारे देश में 9 IIITs थीं, आज 25 IIITs हैं।
– वर्ष 2014 में हमारे यहां 13 IIMs थे, आज 20 IIMs हैं।
Medical education को लेकर भी प्रधानमंत्री मोदी ने अपने कार्यकाल में हुई उपलब्धियां गिनाई। 6 साल पहले तक देश में सिर्फ 7 एम्स थे, आज देश में 22 एम्स हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा चाहे ऑनलाइन हो या फिर ऑफलाइन, सभी तक पहुंचे, बराबरी से पहुंचे, सभी का जीवन बदले, हम इसी लक्ष्य के साथ काम कर रहे हैं।

इसके पहले हमारे प्रधानमंत्री पूर्व लाल बहादुर शास्त्री जी 1964 में किया गया था। 1964 के बाद पहला मौका है जब देश के पीएम नरेंद्र मोदी जी मुस्लिम यूनिवर्सिटी कार्यक्रम में शामिल हुए।

एक तरफ जहाँ मोदी जी ऑनलाइन माध्यम से यूनिवर्सिटी को संबोधित कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ अलीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्र संगठन प्रधानमंत्री के विरोध में कैंपस के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। छात्र संगठन का आरोप है कि भाजपा के कुछ नेताओं ने यूनिवर्सिटी का नाम बदनाम किया है। हालाँकि पीएम ने AMU की तारीफ़ कर अपने पार्टी के नेताओं की बातों को नकार दिया है।

Keep visiting The Ganga Times for such interesting news, Bihar News, India News, and World News. Follow us on FacebookTwitter, and Instagram for regular updates.

One thought on “पीएम मोदी ने अलीगढ़ यूनिवर्सिटी को बताया ‘मिनी इंडिया’; इसकी समृद्ध विरासत को सराहा

  1. I definitely wanted to send a quick comment to express gratitude to you for those remarkable hints you are giving on this site. My incredibly long internet look up has at the end been recognized with sensible know-how to share with my family and friends. I would believe that most of us site visitors actually are unquestionably blessed to live in a very good site with so many lovely people with very beneficial advice. I feel rather happy to have used your website and look forward to so many more pleasurable times reading here. Thanks a lot once again for everything.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *