पंजाब कांग्रेस में नहीं थम रही है अंतर्कलह, सिद्धू ने की अब ‘आप’ की तारीफ़

जहां एक तरफ़ पंजाब कांग्रेस में जारी अंतर्कलह थमने का नाम नहीं ले रही है, वहीं दूसरी तरफ़ अब नवजोत सिंह सिद्धू ने आम आदमी पार्टी की तारीफ़ करके पंजाब में जारी सियासी सुगबुगाहट को और बढ़ा दिया है. नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट करते हुए लिखा –

हमारी विपक्षी आप ने हमेशा पंजाब के लिए मेरे विजन और काम को मान्यता दी. चाहे 2017 के पहले मेरी ओर से उठाए गए बेअदबी, ड्रग्स, किसानों के मुद्दे, भ्रष्टाचार, बिजली संकट के मुद्दे हों या आज जब मैं पंजाब मॉडल पेश कर रहा हूँ. ये साफ़ है कि वो जानते हैं कि वास्तविकता में पंजाब के लिए कौन संघर्ष कर रहा है.

सिद्धू ने अपने ट्वीट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया है जिसमें आप के पंजाब अध्यक्ष भगवंत मान सिद्धू की तारीफ करते हुए दिखाई दे रहे हैं. वे कहते हैं कि कोई भी व्यक्ति अपने रोल मॉडल से बड़ा नहीं हो सकता. अगर सिद्धू पार्टी में आते हैं तो वे पहले व्यक्ति होंगे जो उनका स्वागत करेंगे. सिद्धू के इन ट्वीट्स के बाद पंजाब कांग्रेस में राजनीतिक गुत्थी का सुलझना आसान नहीं लग रहा है. वहीं इसे पंजाब की राजनीति में एक बड़े सियासी भूचाल के संकेत के रूप में भी देखा जा रहा है.

Picture : twitter.com/sherryontopp

कुछ दिन पहले ही अरविंद केजरीवाल पर साधा था निशाना

कुछ दिन पहले ही सिद्धू ने पंजाब में बिजली संकट को लेकर अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा था. सिद्धू ने ट्वीट करते हुए कहा था कि पंजाब में दिल्ली मॉडल की जरूरत नहीं, दिल्ली अपनी बिजली ख़ुद पैदा नहीं करती और इसका वितरण टाटा और रिलायंस के हाथों में है. जबकि पंजाब अपनी लगभग 25 प्रतिशत बिजली ख़ुद ही पैदा करता है. साथ ही बिजली आपूर्ति पावरकॉम के जरिए हज़ारों लोगों को रोज़गार भी देता है.

पंजाब कांग्रेस के राजनीतिक संकट को सुलझाने की दिल्ली में हो रही लगातार कोशिश

पार्टी आलाकमान लगातार सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर से अलग – अलग बातचीत में इस विवाद को सुलझाने की कोशिश कर रही है. पिछले दिनों जहां सीएम कैप्टन अमरिंदर की मुलाक़ात सोनिया गांधी से हुई. वहीं नवजोत सिंह सिद्धू राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिले. पंजाब कांग्रेस का यह संकट सुलझने की ओर बढ़ रहा था. लेकिन सिद्धू के इस ‘आप’ प्रेम वाले बयान ने राजनीतिक कयासों को और बढ़ा दिया है.

Aman Pratap Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सुप्रीम कोर्ट ने राजद्रोह कानून के दुरूपयोग पर जताई चिंता, पूछा आज़ादी आंदोलन को कुचलने वाले औपनिवेशिक कानून की क्या अब भी है जरूरत?

Fri Jul 16 , 2021
सुप्रीम कोर्ट ने राजद्रोह कानून से जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा है कि महात्मा गांधी, तिलक को चुप कराने के लिए अंग्रेजों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले औपनिवेशिक कानून की आजादी के 75 साल बाद भी क्या प्रसांगिकता है. CJI एन.वी. रमना की अध्यक्षता वाली पीठ ने […]