लाल किले की हिंसा में शामिल दीप सिद्धू का PM Modi और भाजपा के साथ क्या है कनेक्शन?: Deep Sidhu BJP Connection

After the violence that broke out during a Kisan tractor rally in Delhi, a photo of Deep Sidhu BJP’s Gurdaspur MP Sunny Deol with Prime Minister Narendra Modi started circulating on social media platforms.

Photo: IANS

The Ganga Times, Farmers Protest Violence: लाल किले की पावन प्राचीर पर झंडा फहराने वालों में एक चेहरा सामने आ रहा है, पंजाबी एक्टर और सिंगर दीप सिद्धू का। सोशल मीडिया पर कांग्रेस पार्टी सहित विपक्ष के कई नेता और लाखों लोग ने सिद्धू पर निशाना साथ रहे हैं। वजह है उसकी भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री मोदी (Deep Sidhu BJP and PM Modi) से करीबी। किसान यूनियन का कहना है कि हिंसा भड़काने वाला दीप सिख नहीं, बल्कि भाजपा का एजेंट (Deep Sidhu BJP worker) है। आइये जानते हैं इस दावे में कितनी सच्चाई है।

Viral picture of Deep Sidhu BJP MP from Gurdaspur and PM Narendra Modi

Deep Sidhu BJP Connection: A photo with PM Narendra Modi and Sunny Deol viral.

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें दीप सिद्धू प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा सांसद सन्नी देओल (Deep Sidhu Bjp MP Sunny Deol and PM Narendra Modi) के साथ नजर आ रहा है। इसको लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि ये तस्वीर 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान ली गई थी जब सिद्धू गुरदासपुर से भाजपा उम्मीदवार (अब सांसद) सन्नी देओल के लिए प्रचार करता था। वो देओल की चुनावी अभियान की टीम का हिस्सा भी था। लेकिन सिद्धू के किसान आंदोलन में शामिल होने के बाद सांसद ने दिसंबर में उससे खुद को दूर कर लिया था।

कल रात अभिनेता सन्नी देओल ने ट्विटर के माध्यम से बताया की उनके और दीप के बीच कोई संबंध नहीं है। उन्होंने लिखा, “आज लाल क़िले पर जो हुआ उसे देख कर मन बहुत दुखी हुआ है, मैं पहले भी, 6 दिसंबर को ,ट्विटर के माध्यम से यह साफ कर चुका हूँ कि मेरा या मेरे परिवार का दीप सिद्धू के साथ कोई संबंध नही है।”
जय हिन्द

We only hoisted the great Nishan Sahib flag o Red Fort, and did not remove the national flag: Deep Sidhu

दीप सिद्धू ने फेसबुक पर एक वीडिओ पोस्ट किया है जिसमें वो लाल किले पर निशान साहिब झंडा लगाने के इस कदम को सही ठहराता नजर आ रहे हैं। उसने कहा, “हमने विरोध जताने के अपने लोकतांत्रिक अधिकार का प्रयोग करते हुए लाल किला पर सिर्फ निशान साहिब का झंडा फहराया है.” उन्होंने प्रदर्शनकारियों के कृत्य का बचाव किया और कहा कि हमने राष्ट्रीय ध्वज को हाथ भी नहीं लगाया। सरकार द्वारा लाये गए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रतीकात्मक विरोध दर्ज कराने के लिए, हमने ‘निशान साहिब’ और किसान झंडा लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि ‘निशान साहिब’ सिख धर्म का एक प्रतीक है जो देश की ‘विविधता में एकता’ को दर्शाता है।

Photo: PTI

Deep Sidhu is not a Sikh but a BJP worker: Rakesh Tikait

वहीं भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि दीप सिद्धू सिख नहीं है, बल्कि भाजपा का एक कार्यकर्ता है। उन्होंने कहा कि, ‘प्रधानमंत्री मोदी के साथ उसकी एक तस्वीर है। यह किसानों का आंदोलन है और ऐसा ही रहेगा। जिन लोगों ने बैरिकेडिंग तोड़ने और हिंसा में हिस्सा लिया है, वे कभी भी आंदोलन का हिस्सा नहीं होंगे।”

‘जिन लोगों ने लाल किले में हिंसा भड़काई है और झंडे फहराए हैं, उन्हें अपने कर्मों का फल भुगतना होगा। पिछले दो महीने से एक समुदाय विशेष के खिलाफ साजिश चल रही है। यह सिखों का आंदोलन नहीं है, बल्कि किसानों का है।, राकेश टिकैत ने कहा.

अगर आपके पास भी कोई कहानियां या ब्लॉग है तो हमें भेज सकते हैं। हम उसे ‘गंगा टाइम्स’ पर प्रकाशित करेंगे।

Keep visiting The Ganga Times for Bihar News, UP News, India News, and World News. Follow us on FacebookTwitter, and Instagram for regular updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *