शेरशाह(Shershaah): एक दिलेर व फिल्मी फौजी की कहानी

An Inspiring war drama starring Sidharth malhotra & Kiara advani now streaming on Amazon Prime Video

1999 का वो युद्ध जिसकी गूँज पहली दफा टीवी के माध्यम से हर घर तक पहुँच रही थी,उस युद्ध और उसके योद्धाओं को कौन नहीं जानता। उसी युद्ध में एक योद्धा विक्रम बत्रा था, जो इतना दिलेर था कि दूसरे की जान बचाने के लिए खुद के जान की परवाह तक नहीं की और देश के लिए शहीद हो गया। कैप्टेन विक्रम बत्रा जितने दिलेर थे,उतने ही फिल्मी भी थे और शेरशाह फिल्म उसी फ़िल्मी व दिलेर फौजी की कहानी बताती हैं। शेरशाह काफी लम्बे इंतज़ार के बाद अब आख़िरकार अमेज़न प्राइम पर अपलोड कर दी गई हैं।

Shershaah movie review

फिल्म में कैप्टेन विक्रम बत्रा की भूमिका में सिद्धार्थ मल्होत्रा हैं। वैसे तो शेरशाह एक एक्शन फिल्म हैं मगर यह साथ में आपको एक रोमांटिक व सच्ची प्रेम कहानी भी दिखाती हैं। फिल्म शुरू होती हैं हिमाचल के पालमपुर से जहाँ बच्चे क्रिकेट खेल रहे होते हैं और उन बच्चों में दो बच्चे जुड़वा होते हैं। इन्ही जुड़वा बच्चे में से एक होते हैं कैप्टेन विक्रम बत्रा और दूसरे विशाल बत्रा। इस फिल्म की कहानी को यूँ लिखा गया हैं कि विशाल बत्रा एक टेड टॉक टाइप शो में अपने भाई कैप्टेन विक्रम बत्रा की जीवनी सुना रहे हैं और उसी के साथ फिल्म भी आगे बढ़ती हैं। विक्रम बत्रा चंडीगढ़ आ जाते हैं कॉलेज की पढाई करने और वही उनकी मुलाक़ात डिंपल चीमा यानी किआरा अडवानी से होती हैं। विक्रम और डिंपल एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं और इन्ही सब के बीच विक्रम बत्रा फ़ौज में भर्ती हो जाते हैं। आगे कारगिल का युद्ध होता है जिसके खत्म होने से पहले कैप्टेन विक्रम बत्रा शहीद हो जाते है और अपनी प्रेम कहानी व ज़िन्दगी को अमर कर जाते हैं।

Sid & Kiara in Shershaah

इस फिल्म की सबसे अच्छी बात यह हैं कि यह फिल्म जबरदस्ती की देशभक्ति की भावना जगाने का प्रयास नहीं करती। यह बताता हैं कि फिल्म के निर्देशक-निर्माताओं को पता था की ये फिल्म एक वीर शौर्य विक्रम बत्रा की जीवनी हैं। फिल्म के पहले एक घण्टे आपको आखिरी के रोमांच के लिए तैयार करते हैं। हालांकि कुछ भी नया नज़र नहीं आता और आप जैसा जैसा मन में सोचते हैं वैसा वैसा आगे घटता रहता है। फिल्म के वॉर सीन को देख आपको फरहान अख्तर की लक्ष्य फिल्म याद आएगी। खैर, फिल्म पूरे तरीके से ख़राब भी नहीं हैं। फिल्म में मौजूद छोटे छोटे कुछ ऐसे सीन हैं जो आपको सोचने पर मजबूर करते हैं।

Sidharth as Shershaah

जैसे एक सीन कश्मीर का हैं जहाँ एक बच्चा गलत संगती में आ जाता हैं और वो वहाँ से बाहर निकलना चाहता हैं ,
तब वो विक्रम बत्रा के सामने अपने अब्बू से कहता है,
“पैसों के लिए जिहाद करने वालो की मदद कर के मरने से अच्छा हैं
कि मैं भारतीय फ़ौज की मदद कर के मरुँ “

यह दृश्य बताता हैं कि कश्मीर में भारतीयता का अंश मौजूद हैं बस सही सलाह व नेतृत्व की ज़रुरत हैं।

इस फिल्म में मेरा एक और पसंदीदा संवाद हैं और वो हैं ,
सिद्धार्थ मल्होत्रा यानी विक्रम बत्रा द्वारा बोला गया ” ये वॉर बड़ी कुत्ती चीज़ हैं यार “
यह संवाद सुन व देख आज के युवाओ और लोगो को समझना होगा कि
आखिर में युद्ध जीत व हार नहीं बल्कि बस दुःख ही दुःख दे जाता हैं।

फिल्म में संवादों की थोड़ी कमी सी लगती हैं इसलिए बहुत कम ही ऐसे संवाद हैं जो आखिर तक याद रह जाते हैं। शुरुआत में पंजाबी और हिंदी को मिलाकर जो गुड़ गोबर किया है संवादों का उस से लेखक व कलाकारों को बचना चाहिए था। बाकी सिद्धार्थ मल्होत्रा की अदाकारी की बात करें तो आँखों से खेलने का अच्छा प्रयास किया हैं ,अगर यह फिल्म थिएटर में आती तो शायद खूब भीड़ लगती। सिद्धार्थ के साथ साथ बाकी कलाकारों ने भी बहुत उम्दा काम किया हैं। सपोर्टिंग कास्ट इतनी बेहतरीन थी कि कई जगह सिद्धार्थ फीके नज़र आते हैं। सूबेदार रघुनाथ के किरदार में राज अर्जुन ने सबसे ज्यादा प्रभावित किया। किआरा का रोल और बढ़िया तरीके व गहराई से लिखा जा सकता था।

Yeh Dil Maange More moment in Shershaah

यहाँ अब थोड़ा रुक के फिल्म में मौजूद गानों की तारीफ भी करनी होगी। थोड़ा धन्यवाद फिर से फिल्म के निर्माताओं व निर्देशक का, जिन्होंने इस फिल्म में देशभक्ति टाइप या माँ तुझे सलाम टाइप गाने नहीं डाले। फिल्म में मौजूद गाने रिश्तो को बाँधने का काम करते हैं। आखिरी सीन में बी प्राक की आवाज़ में मन भरेया गाना आपको रुलाने की ताक़त रखता हैं। वैसे मेरा पसंदीदा दर्शन की आवाज़ में थोड़ी देर के लिए फिल्म में आया गाना हैं,कभी तुम्हे

ओवरऑल फिल्म को देखे तो एक वॉर हीरो की कहानी को लोगो तक लाने का यह एक अच्छा प्रयास हैं। विष्णु वर्धन का निर्देशन सटीक हैं और वही संदीप श्रीवास्तव को पटकथा-संवाद पर और गहराई से काम करना चाहिए था। बाकी अगर आपको एक सच्ची प्रेम कहानी और एक दिलेर फौजी शेरशाह की कहानी जाननी हो तो यह फिल्म अमेज़न प्राइम पर देख सकते हैं।

अगर आपके पास भी कोई कहानियां या ब्लॉग है तो हमें भेज सकते हैं। हम उसे ‘गंगा टाइम्स’ पर प्रकाशित करेंगे।

Keep visiting The Ganga Times for Bihar News, India News, and World News. Follow us on FacebookTwitter, and Instagram for regular updates.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *