Sunday, February 5
Shadow

Tag: Republic TV

अर्नब-काण्ड गोदी मीडिया के फर्जी-राष्ट्रवाद को उजागर करता है: #ArnabGate

अर्नब-काण्ड गोदी मीडिया के फर्जी-राष्ट्रवाद को उजागर करता है: #ArnabGate

Latest News, India
#ArnabGate: The leaked WhatsApp Chats between Republic TV's controversial journalist, Arnab Goswami and former BARC chief, Partho Dasgupta suggest that the former had some highly classified information of the Pulwama incident. He also claimed to have benefitted from it. ‘This attack we have won like crazy’. Arnab's proximity with the PMO is also highlighted in the alleged leaked chat. The Ganga Times: अर्णब गोस्वामी के वॉट्सएप्प चैट लीक मामले (Arnab Goswami WhatsApp Chats leak) में बड़े-बड़े खुलासे सामने आ रहे हैं। रिपब्लिक चैनल के मालिक (Republic TV managing director) अब बुरी तरह से फँसते दिख रहे हैं। टीआरपी स्कैम (TRP Scam) की छानबीन में जब मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल किया था तो इसमें करीब 500 पन्नों की कथित तौर पर अर्णब की वाट्सऐप चैट (ArnabGate) को ...
Godi Media की जहालत, पक्षपात, चाटुकारिता ने पत्रकारिता की साख को ध्वस्त किया है: Farmers’ Protest

Godi Media की जहालत, पक्षपात, चाटुकारिता ने पत्रकारिता की साख को ध्वस्त किया है: Farmers’ Protest

Latest News, Opinion
The way a large section of Indian Media has slandered the ongoing farmers protest, discredits its own image. The term 'Godi Media' becomes even more relevant after a series of consistent efforts by media outlets such as Aaj Tak, Zee News, Republic TV, Times Now, etc. to defame protestors with no substantial evidence. जब भारत के अन्नदाता राजधानी दिल्ली और सटे इलाकों में पिछले दो हफ़्तों से नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi government) द्वारा लाये गए तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं, मीडिया के एक वर्ग लगातार उनके खिलाफ आग उगल रहा है। खालिस्तान समर्थक (Khalistan supporters) , विदेशी कंपनियों द्वारा लाये गए भाड़े के टट्टू, देश विरोधी तत्व (anti-national elements) -- देश की राष्ट्रीय मीडिया ने मेहनतकश किसानों के चरित्र हनन करने के लिए हर तरह के आग उगले। यही कारण है की कुछ मीडिया चैन...
अर्नब किस हैसियत से कहते हैं “पूछता है भारत”? रिपब्लिक टीवी पर हाई कोर्ट की सख्ती

अर्नब किस हैसियत से कहते हैं “पूछता है भारत”? रिपब्लिक टीवी पर हाई कोर्ट की सख्ती

India, Latest News, आपकी खबरें आपकी भाषा में
खुद को बेबाक पत्रकारिता के सबसे बड़े प्रस्तावक मानने वाले पत्रकार अर्नब गोस्वामी और उनके चैनल 'रिपब्लिक भारत' की मुश्किलें आने वाले दिनों में और भी बढ़ सकती हैं। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने अर्नब के "पूछता है भारत" टैग लाइन पर सवाल खड़े करते हुए पूछा है की आखिर वो किस हैसियत से देश की तरफ से लोगों से सवाल करते हैं। हाईकोर्ट में किये गए एक जनहित याचिका ने अर्नब गोस्वामी को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है। दरअसल जो जनहित याचिका कोर्ट में दायर की गयी थी उसमे यह बात कही गई थी कि "पूछता है भारत" टैगलाइन के जरिये अर्णब गोस्वामी अपने निजी सवाल एवं एजेंडे संबंधितों से पूछते हैं। अधिवक्ता रोहन व्यास द्वारा दायर की गयी याचिका में यह भी कहा गया था की भारत के संविधान में इस तरह की कोई भी स्वंत्रता नहीं दी गई है कि देश की तरफ से कोई व्यक्ति, संस्था किसी से सवाल कर सके।मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर...